दूसरे राज्यों से 3 दिन में एक लाख से ज्यादा लोग उत्तर प्रदेश पहुंचे, योगी ने कहा- सबको क्वारैंटाइन किया जाए

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन का आज 5वां दिन है। राज्य में रहने वाले ज्यादातरलोगलॉकडाउन का पालन कर रहे हैं, लेकिन शुक्रवार को हालात उस वक्त बिगड़ गए, जब दिल्ली समेत दूसरे राज्य से आएमजदूर और कामगार यहां पहुंचे। लखनऊ के चारबाग और कैसरबाग बस अड्डे पर हजारों की भीड़ पहुंच गई। यहां न यात्रियों की कोई मेडिकल जांच हुई, न ही उनका कोई रिकॉर्ड बनाया गया। जिला प्रशासन ने 200 से अधिक बसों का इंतजाम उनके गृह नगर जाने के लिए रवाना किया। इस बीच, उत्तर प्रदेश में 24 घंटे के भीतर 14 नए मरीज सामने आए। अब तक प्रदेश में 65 संक्रमित पाए गए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि 3दिनों में दूसरे राज्यों से एक लाख से ज्यादा लोग प्रदेश में आए। इन सभी लोगों के नाम, पता, फोन नंबर की सूची तैयार कर जिला प्रशासन को उपलब्ध कराया जाए। इन सभी को सर्विलांस पर रखते हुए इनका अनिवार्य क्वारैंटाइन कराया जाए। सीएम ने नोएडा में संक्रमण के केसबढ़ने परस्वास्थ्य औरस्वच्छता को मजबूत करने केनिर्देश दिए। इधर,प्रमुख सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने कहा- जिला प्रशासन को निर्देश दिया गयाहै कि जिला मुख्यालयों पर पहुंच रहे कामगारों के लिए समुचित व्यवस्था की जाए। गांव पहुंचने पर इनकी सूची बनाई जाए और जिन्हें आइसोलेट या क्वारैंटाइन करने की जरूरत है, उन्हें किया जाए।

योगी ने कहा- जो लोग अन्य राज्यों से आएं, उन्हें क्वारैंटाइन किया जाए।

नोएडा: एक कंपनी पर केस दर्ज

गौतमबुद्धनगर (नोएडा-ग्रेटरनोएडा) में कोरोना संक्रमितों की संख्या 27 हो चुकी। शनिवार को यहां 9 नए केस सामने आए थे। जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनुराग भार्गव ने सीज फायर कंपनी पर महामारी एक्ट के तहत केस दर्ज कराया। आरोप है कि कंपनी में विदेश से आए व्यक्तियों के कारण जिले के विभिन्न सेक्टरों में संक्रमण फैला। इस कंपनी के 13 लोग पॉजिटिव पाए गए। यह एफआईआर एक्सप्रेस-वे नोएडा थाने में दर्ज हुई।

झांसी: सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं
झांसी में लॉकडान है। लेकिन, यहां सुबह सब्जी मंडी, राशन की दुकानों पर भीड़ उमड़ी। लॉकडाउन के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा।लोग सड़कों पर बेवजह घूमते देखे जा रहे हैं। फिलहाल, पुलिस-प्रशासन इस तरह के लोगों को सबक सिखाने की बात कर रहा है।

झांसी की सब्जी मंडी में शनिवार को भीड़ देखी गई। लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया।

वाराणसी: मंडी में आम लोगों के प्रवेश रोक
लाॅकडाउन मेंसख्ती के बावजूद लोग मानने को तैयार नहीं हैं। शनिवार रात को बस चलने की अफवाह के बाद अचानक भीड़ रोडवेज बस स्टैंड पर उमड़ पड़ी। मौकेपर पुलिस पहुंची और लोगों को अलग-अलग जगहों पर शिफ्ट किया। रविवार को पूर्वांचल की सबसे बड़ी किराना मंडी विशेश्वरगंज में पुलिस ने आम जनता की प्रवेश पर रोक लगा दिया। शिवपुर के एक युवककी रिपोर्टपॉजिटिव आने के बाद गांव को सील कर दिया गया। परिवार वालों का सैंपल लेकर बीएचयू जांच को भेजा गया।वहीं,रोहनिया-मोहनसराय चौराहा स्थित हाईवे पर रविवार सुबह 9 बजे बिहार जा रहे पैदल मजदूरों को रोहनिया पुलिस द्वारा ट्रकों को रोक कर बिहार के लिए रवाना कराया गया।

वाराणसी में बस अड्डे पर लगी लोगों की भीड़।

आगरा: पीएम ने कोराेनाफाइटर से बात की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार कोअपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात में देश से मुखातिब हुए। मन की बात कार्यक्रम का यह 63वां संस्करण था।इस दौरान पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के रहने वाले जूता कारोबारी से उनके अनुभव सुने। अशोक व उनके परिवार के छह सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। यह पहला मामला था, जब यूपी में कोरोना का केस पाया गया था। कारोबारीने कहा- संक्रमण की पुष्टि के बाद डर लगा था, लेकिन अब परिवार के सभी सदस्य ठीक हैं। आगरा के अधिकारियों व कर्मियों के साथ सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टरों व अन्य स्टॉफ का भी आभारी हूं।

प्रयागराज: दिल्ली से छह दिन पैदल चलकर आए

सिर पर सामान की पोटली और हाथ से बच्चों और बुजुर्गों को थामे लोग अपने साथ अपनी मजबूरी को लेकर पैदल जा रहे हैं। रीवामध्य प्रदेश के मऊगंज निवासी रामशिरोमणि, जवाहिर, झल्लू , पुरुषोत्तम, अपने-अपने परिवारों के साथ दिल्ली में पिछले दो साल से एक बिल्डर के पास मजदूरी कर रहे थे। बिल्डर ने काम बंद कर दिया, बकाया मजदूरी में से कुछ का भुगतान किया। बाकी के लिए कहा कि जब काम शुरू होगातब देंगे। काम बंद होने से चारों परिवार छोटे-छोटे बच्चों और 5 महिलाओं के साथ पैदल ही घर के लिए निकल दिए।दिल्ली से यहां तक का सफर तय करने में इन्हें छह दिन लग गए। अभी रीवा तक जाने में और समय लगेगा।

13 शहरों तक फैला संक्रमण

22 दिनों में 68संक्रमित व्यक्ति सामने आए हैं। शनिवार को 133 संदिग्धों को राज्य के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती किया गया है। अब तक यूपी के 2283 संदिग्धों की जांच कराई जा चुकी है। इनमें 2171 जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। 52 की रिपोर्ट आना बाकी है। हालांकि, राहत की बात यह है कि अब तक 14 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया।

शहर संक्रमित मरीज
नोएडा 27
आगरा 10
लखनऊ 8
गाजियाबाद 7
मेरठ 5
पीलीभीत 2
वाराणसी 2

लखीमपुर खीरी, बागपत, मुरादाबाद, बरेली

कानपुर, जौनपुर औरशामली में एक-एक मरीज

7
कुल 68
लखनऊ में अयोध्या रोड पर कामता पुलिस चौकी के पास रोडवेज में बैठने का प्रयास करता युवक।

मीटर रीडिंग का काम स्थगित
कोरोनावायरस महामारी के चलते उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन ने अप्रैल माह में मीटर रीडिंग का काम स्थगित कर दिया गया है। यह सभी बिल 3 माह के औसत उपभोग के आधार पर बनाया जाएगा। जिन उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर पंजीकृत हैं, उन्हें यह बिल एसएमएस के जरिए और जिनके ईमेल एड्रेस पंजीकृत हैं, उन्हें ईमेल से भेजे जाएंगे। पावर कॉर्पोरेशन के निदेशक वाणिज्यएके श्रीवास्तव ने सभी डिस्कॉम के प्रबंध निदेशकों को इस बारे में निर्देश जारी कर दिए हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

लॉकडाउन के बीच दिल्ली और अन्य राज्यों से लोग लखनऊ पहुंच रहे हैं।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *