धौनी के ग्लव्स पर ‘बलिदान बैज’: धौनी के समर्थन उतरी BCCI और भारत सरकार

धौनी के ग्लव्स पर ‘बलिदान बैज’: धौनी के समर्थन उतरी BCCI और भारत सरकार

धौनी के ग्लव्स पर ‘बलिदान बैज’ का निशान धीरे-धीरे तूल पकड़ता जा रहा है। दरअसल, बुधवार को साउथेम्प्टन में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए पहले मैच में विकेटकीपिंग के दौरान धौनी ने जिस दस्ताने का इस्तेमाल किया था उस पर सेना के बलिदान बैज का निशान बना हुआ था।

आईसीसी ने धोनी को अपने दस्ताने से यह निशान हटाने को कहा था, लेकिन धोनी ने अपने ग्लव्स से इस निशान को हटाने से मना कर दिया। इस मामले में धौनी को बीसीसीआई का पूरा समर्थन मिल रहा है। बीसीसीआई के COA चीफ विनोद राय ने कहा, “हम आईसीसी को एमएस धोनी को उनके दस्ताने पर ‘बलिदान बैज’ पहनने के लिए अनुमति लेने के लिए पहले ही चिट्ठी लिख चुके हैं”।

अब ICC के सूत्रों ने कहा कि नियमों के अनुसार अपील की कोई गुंजाइश नहीं है, लेकिन BCCI के पास ICC को पत्र लिखने का अधिकार है. इस मामले को तकनीकी समिति को सौंपा जाएगा। जिसमें जेफ एल्डर्स, डेविड रिचर्डसन, कुमार संगकारा, हर्षा भोगले और स्टीव एलवर्थी शामिल हैं, लेकिन यह बहुत संभावना नहीं है कि वे अपना रुख बदल देंगे।

वहीं दूसरी तरफ इस मामले में सेना ने धोनी के ग्लव्स पर लगे इस निशान को बलिदान बैज नहीं मानती। इंडियन आर्मी के सूत्रों के मुताबिक यह स्पेशल फोर्सेज का प्रतीक चिह्न है जो मरून रंग में होता है और इसे हिंदी में लिखा जाता है। यह हमेशा छाती पर पहना जाता है। धोनी के दस्ताने पर निशान पैरा स्पेशल फोर्सेज का प्रतीक चिह्न है।

बीसीसीआई के बाद खेल मंत्रालय ने भी धोनी का समर्थन किया था. खेल मंत्री किरण रिजिजू ने कहा, ‘खेल निकायों के मामलों में सरकार हस्तक्षेप नहीं करती है, वे स्वायत्त हैं, लेकिन जब मुद्दा देश की भावनाओं से जुड़ा होता है, तो राष्ट्र के हित को ध्यान में रखना होता है। मैं बीसीसीआई से आईसीसी में इस मामले को उठाने का अनुरोध करना चाहूंगा।’

About The Author

Originally published on www.bhaskar.com

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *