देर रात तक मस्जिदों में चली छापेमारी; कई जगह मिले विदेशी जमातियों को क्वरैंनटाइन किया गया



दिल्ली की निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शिरकत करने उत्तर प्रदेश से गए 157 लोगों की तलाश शुरू हुई तो राज्य की मस्जिदों और अन्य स्थानों पर ठहरेबड़ी संख्या में विदेशी नागरिक भी सामने आए। लखनऊ में 23, बहराइच में 17 विदेशी नागरिक पकड़े गए। सीतापुर में 10 और प्रयागराज में 9 जमातियों का पता लगने के बाद इन सभी को क्वारैंटाइन किया गया है।ये लोग इंडोनेशिया, मलेशिया, सूडान, पाकिस्तान, बांग्लादेश, कजाखस्तान और थाईलैंड के रहने वाले हैं। इसके चलते पुलिस प्रदेश के कई जिलों में रातभर छापेमारी करती रही।

आगरा और मथुरा की मस्जिदों से काफीसंख्या में जमाती मिले

आगरा और मथुरा में मिले जमाती
मथुरा में पुलिस ने जमातियों को एंबुलेंस में बैठाकर क्वारैंटाइन के लिए भेजा।

डीजीपीकार्यालय ने प्रदेश के 157 ऐसे लोगों की सूची जारी की थी कि जिनमें मथुरा निवासी दो भाई भी शामिल थे। पुलिस ने मथुरा की मस्जिदों में से 51 ऐसे लोगों का पता लगाया जो यहां की मस्जिदों में आयोजित जमात में शामिल होने के लिए आए थे। इनमें से 30 लोग निजामुद्दीन भी होकर आए थे। ये लोग 18 मार्च से ही यहां रुके हुए थे। सभी को वृंदावन में क्वारैंटाइन सेंटर भेजकर जांच कराई जा रही है। वहीं, आगरा में 89 लोगों को क्वारैंटाइन किया गया है। यहां की 8 मस्जिदों में 89 लोग आकर रह रहे थे। इनमें से 13 दिल्ली,13 मध्य प्रदेश और बाकी राजस्थान के हैं। इन सभी पर विशेष रूप से नजर रखी जा रही है।सभी को आगरा के सिकंदरा क्षेत्र के मधु रिजॉर्ट मे बने क्वारैंटाइनसेंटर में रखा गया है।स्वास्थ विभाग की टीम ने सभी के सैंपल लिए हैंऔर पुलिस पूछताछ कर रहीहै।
मेरठ:बिना सूचना दिए मस्जिद में रुके थे जमाती

मेरठ में बिना सूचना दिए मस्जिद में रुके थे जमाती
मेरठ की मस्जिद में बिना सूचना दिए रुके थे जमाती।

बाहर से आकर जिले में रुके लोगों की सूचना मांगने के बावजूद लोग जानकारीपुलिस को नहीं दे रहे। मेरठ के थाना परतापुर में स्थित काशी गांव में यह मामला सामने आया है। यहां एक मकान में एक विदेशी समेत दूसरे राज्यों के 14 जमाती बिना पुलिस को सूचना दिए बगैररहते मिले। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर इन लोगों से पूछताछ की और स्वास्थ्य विभाग की टीम को बुलाकर सभी की जांच कराई गई। पुलिस ने सभी जमाती और उन्हें यहां रोकने वाले के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

झांसी:बेवजह घूमने वालों के खिलाफ पुलिस सख्त

झांसी में बिना वजह घूमने वालों के खिलाफ सख्त हुई पुलिस
झांसी के जीवनशाह तिराहे पर लगा पुलिस फोर्स।

झांसी पुलिस के लिए सबसे बड़ी परेशानी का सबब यूपी-एमपी सीमाबन गई है। बॉर्डर सील होने के बावजूद यहां से हर रोज हजारों मजदूर पैदल चलकर उत्तर प्रदेश की सीमा में घुस रहे हैं। उनकी व्यवस्था में बड़ी संख्या में फोर्स लगाई गई है। इस कारण शहर के अंदर व्यवस्थाएं बिगड़ रही हैं और लोग बेवजह सड़कों पर घूमने लगते हैं।

वाराणसी:तब्लीगी जमात से जुडे़ 5 लोग दिल्ली में क्वरैंटाइन

वाराणसी में लॉकडाउन के बाद पसरा सन्नाटा
वाराणसी में लॉकडाउन के बाद भी कुछ लोग सड़क पर दिखे।

वाराणसी के 5 लोग दिल्ली में हुए धार्मिक जलसे में शामिल हुए थे।मौलानाओं और जमात में शामिल लोगों की लिस्ट में इन 5 लोगों का नाम भी शामिल है। देर रात तक जिला प्रशासन इनको ट्रैक करने में लगाथा।राहत की बात तब रही जब ये पता चला कि पांचों लोग दिल्ली में ही क्वारैंटाइन किए गए हैं। वहीं, लोगों कोसबसे दिक्कतसब्जी मंडियों के बंद होने से रही। 1अप्रैल को व्यापारियों द्वारा मंडी बंद रखीजातीहै। चंदुआ सट्टी और पंचकोशी सब्जी मंडी में पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा।

एटा:132 कैदियों में से 109 रिहा

एटा में जिला प्रशासन ने कैदियों को रिहा किया
एटा में जिला प्रशासन ने कैदियों को रिहा किया

लॉकडाउन की वजह से प्रदेश सरकार ने जेलों में बंद कैदियों को पैरोल पर रिहा करने का निर्देश दिया था। इसी जिला कारागार में बंद 109 कैदियों को मंगलवार देर शाम को छोड़ दिया गया। जेल अधीक्षक पीपी सिंह ने बताया कि 109 कैदियों को रिहा किया गया है। बाद में20-25 कैदियों को और रिहा किया जाएगा।

बहराइच:17 विदेशियों समेत 20 लोग क्वारैंनटाइन

बहराइच में मस्जिद से पकड़े गए जमाती
बहराइच में मस्जिद से पकड़े गए जमाती।

बहराइच की मस्जिद में मिले जमातीथाईलैंड और इंडोनेशिया से होते हुए 17 मौलाना एक महीने पहले हीबहराइच पहुंचे थे। इनके साथ मुंबई और मध्य प्रदेश के दो युवक भी थे। तब्लीगी जमात के येमौलाना घूम-घूमकर समाज के लोगों को तालीम दे रहे थे। येसभी दिल्ली से बहराइच पहुंचे थे। निजामुद्दीन औलिया की दरगाह के पास मरकज का मामला सामने आने के बाद प्रशासन हरकत में आया। इसके बाद थाईलैंड के 7 नागरिकों समेत 10 लोगों को मेडिकल कालेज में क्वारैंटाइन किया गया। जबकि, इंडोनेशिया के नागरिकों को एक मस्जिद में आइसोलेट किया।

लखनऊ: बिजली बिल जमा करने की तारीख बढ़ी
कोरोनावायरस के संक्रमण के चलते लगे लॉकडाउन के कारण उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएल) ने एक मार्च से 14 अप्रैल के बीच बने या बनने वाले बिजली बिलों के भुगतान की तारीख बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दी है। इस आदेश से उपभोक्ताओं को देय तारीख तक बिजली बिल में मिलने वाली 1% छूट का लाभ मिलेगा,30 अप्रैल तक लगने वाले विलंब भुगतान सरचार्ज से भी छूट मिलेगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


लॉकडाउन के दौरान बेवजह घूमने वालों से पूछताछ करती पुलिस।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *